झारखंड में चुनाव बाद राजद से समझौता संभव : कांग्रेस


झारखंड में चुनाव बाद राजद से समझौता संभव : कांग्रेस

झारखंड में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस ने मंगलवार को साफ तौर से राष्ट्रीय जनता दल के साथ चुनाव बाद तालमेल की संभावनाओं के संकेत दिए हैं। यहां संवाददाता स6मेलन को संबोधित करते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि केंद्र में राजद यूपीए का घटक है। हालांकि झारखंड में पार्टी के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन नहीं है। लेकिन चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद परिदृश्य बदल सकता है। गौरतलब है कि झारखंड में राजद के बगैर कांग्रेस और झामुमो ने ७ जनवरी को चुनाव पूर्व गठबंधन की घोषणा की थी।राज्य में राजग सरकार पर हमले तेज करते हुए मध्य प्रदेश के पूर्व मु2यमंत्री ने कहा कि अर्जुन मुंडा की सरकार हर मोर्चें पर विफल रही। राज्य में उग्रवाद पर भी काबू पाया नहीं गया। पिछले तीन सालों में अतिरि1त बजट का प्रावधान नहीं किया गया। फलस्वरूप इस साल घाटे का बजट रहा। राज्य गठन के समय राजग सरकार ने २७ बिंदुओं पर काम करने का वादा किया था। इसपर अमल नहीं होने की वजह से चुनाव के दौरान राज्य में सरकार विरोधी लहर चल रही है।

मेजर सिंह के कहने पर गलत रिपोर्ट दी : थापा

सियाचिन फर्जी मुठभेड़ मामले में गवाहों की रिकॉर्डिंग के दौरान जुनियर ऑफिसर ने कहा कि उसने अपने कमांडिंग ऑफिसर मेजर सुरिंदर सिंह के निर्देश पर नियंत्रण रेखा पर तनाव की गलत रिपोर्ट दी थी। पूछताछ के दौरान नायब सूबेदार पी.बी.थापा ने कहा कि उन्होंने पिछले अगस्त में नियंत्रण रेखा पर तनाव की गलत रिपोर्टें भेजी थी, 1योंकि मेजर सिंह ने उन्हें ऐसा करने को कहा था।थापा ने आगे कहा कि वे मेजर सिंह का आदेश मानने के लिए बाध्य थे। इससे पहले थापा ने गलत रिपोर्टों की पूरी जानकारी दी, जिसके आधार पर मेजर सिंह द्वारा फर्जी मुठेभड़ और वीडियोग्राफी को अंजाम दिया गया। जब थापा से गलत रिपोर्टों के नतीजों की जानकारी होने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इसका जवाब हां में दिया। लेकिन जब थापा से मुठभेड़ के दौरान बटालियन कमांडर कर्नल के.डी.सिंह से उनकीफोन पर बातचीत के बारे में पूछा गया, तो थापा ने इससे इनकार कर दिया। इसके साथ ही थापा ने कहा कि उन्होंने मुठभेड़ वाली वीडियो 1िलप भी नहीं देखी है। इस वीडियो 1िलप में दुश्मनों के क्षतिग्रस्त बंकर और पाकिस्तानी सैनिकों के शव दिखाए गए हैं। मेजर सिंह ने पूछताछ के दौरान थापा से तकनीकी जानकारी भी मांगी।

बीटी कॉटन के बीज की मांग अकाली सांसद पवार से मिले, अनधिकृत स्रोत से खरीदने को विवश

शिरोमणि अकाली दल के सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल ने बृहस्पतिवार को केंद्रीय कृषि, खाद्य एवं आपूॢत मंत्री शरद पवार से मिलकर पंजाब के किसानों को तत्काल उच्च गुणव8ाा वाले बीटी कॉटन (कपास) के बीज मुहैया कराने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे अकाली दल के महासचिव एवं सांसद सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि राज्य में प्रायोगिक स्तर पर इन बीजों की उपयोगिता काफी बेहतर रही है इसलिए केंद्र सरकार को तत्काल पंजाब के किसानों को ये बीज उपल4ध कराने चाहिए।प्रतिनिधिमंडल ने पवार को एक ज्ञापन भी दिया। ज्ञापन में राज्य के किसानों की बदहाली का जिक्र करते हुए कहा गया है कि पंजाब मेंं कपास की खेती भी बड़ी मात्रा में हो रही है। राज्य के किसान बीटी कॉटन की उपयोगिता से भली भांति वाकिफ हैं और वे अनधिकृत स्त्रोतों से ये बीज खरीदने को बाध्य हैं। यही नहीं पंजाब में विभिन्न अनुसंधान संगठनों द्वारा की गई बीटी कॉटन की प्रायोगिक खेती काफी सफल रही है इसलिए केंद्र सरकार को राज्य के किसानों को ये बीज तत्काल मुहैया कराने चाहिए। उन्होंने कहा कि कपास के आम बीज से जहां प्रति हे1टेयर १३ से १९ 1िवंटल उपज होती है वहीं बीटी कॉटन की आरसीएच-१३८, १३४ और ३१७ से यही उपज ३० 1िवंटल से भी अधिक है। उन्होंने कहा कि कपास की ये किस्में रोग प्रतिरोधक तो हैं ही साथ ही उनमें कीटनाशकों की जरूरत भी नाम-मात्र की ही है।

प्रतिनिधिमंडल में सुखबीर बादल के अलावा पार्टी सांसद जोरा सिंह मान, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखदेव सिंह ढींढसा, परमजीत कौर गुलशन, सुखदेव सिंह लिबडा, शरणजीत सिंह ढिल्लों, डॉ. रतन सिंह अजनाला और चरणजीत अटवाल भी शामिल थे।

अकालियों ने बनाया डिप्टी स्पीकर के लिए दबाव

शिरोमणि अकाली दल ने लोकसभा के उपाध्यक्ष पद के लिए राजग पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। वरिष्ठ अकाली नेताओं ने इस सिलसिले में राजग के अध्यक्ष अटल बिहारी वाजपेयी और विपक्ष के नेता लाल कृष्ण आडवाणी से मुलाकात की।वरिष्ठ अकाली नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री एस.एस. ढींढसा बुधवार को वाजपेयी और आडवाणी से मिले। माना जा रहा है कि उन्होंने लोकसभा का उपाध्यक्ष पद उनकी पार्टी को देने की मांग की है। अकाली दल के सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने पहले ही इस पद के लिए पंजाब विधानसभा के पूर्व स्पीकर चरनजीत सिंह अटवाल का नाम प्रस्तावित किया जा चुका है। अकाली दल प्रमुख प्रकाश सिंह बादल इस मुद्दे पर जल्द ही भाजपा नेतृत्व से बात करेंगे। भाजपा के सहयोगी अकाली दल के प्रमुख प्रकाश सिंह बादल ने हाल ही में अमृतसर में अटवाल का नाम पार्टी की ओर से प्रस्तावित किया था। पंजाब में फिल्लौर संसदीय क्षेत्र से सांसद अटवाल का संबंध राष्ट्रमंडल संसदीय संगठन से भी रहा है।

Reactions

Post a Comment

0 Comments