ईपीएफ दरों पर श्रम मंत्री चिदंबरम से मिलेंगे

 

ईपीएफ दरों पर श्रम मंत्री चिदंबरम से मिलेंगे

कर्मचारी भविष्य निधि कोष (ईपीएफ) की 4याज दरों में कटौती की अटकलों के बीच श्रम मंत्री शीश राम ओला ने बृहस्पतिवार को कहा कि वे इस मुद्दे पर वि8ा मंत्री पी. चिंदबरम से मुलाकात करेंगे। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के केंद्रीय ट्रस्टी बोर्ड के अध्यक्ष ओला बोर्ड की बैठक के बाद यह मामला वि8ा मंत्री के समक्ष उठाएंगे।ओला ने कहाकि कर्मचारियों के अधिकारों को वरीयता दी जाएगी। 4याज दरों पर कोई टिप्पणी करने से इनकार करते हुए श्रम मंत्री ने आश्वासन दिया कि कोई भी फैसला करने से पहले एक त्रिपक्षीय बैठक में कर्मचारी संगठनों और नियो1ताओं से विचार-विमर्श किया जाएगा। उन्होंने स्वीकार किया कि ईपीएफ दरों में कोई भी कटौती चिंता का विषय है। मंत्रालय एक व्यापक नजरिया अपनाएगा ताकि कर्मचारियों को उनकी कड़ी मेहनत से कमाए हुए पैसा पर अधिकतम फायदा मिल सके। सीटू और एटक जैसे वाम दलों से जुड़े कर्मचारी संगठनों की ओर से 4याज दर को मौजूदा ९.५ प्रतिशत के स्तर पर बनाए रखने की मांग को देखते हुए यह मामला काफी महत्वपूर्ण समझा जा रहा है।

सनी देओल को ट्रांजिट जमानत

महानगर के सत्र न्यायालय ने फिल्म अभिनेता सनी देओल को १७ जून तक के लिए ट्रांजिट जमानत दे दी है। एक वितरक ने सनी देओल के खिलाफ बिहार के वैशाली के चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की अदालत में याचिका दायर कर रखी है। सीजेएम ने १९ मई को सनी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए थे। अतिरि1त सत्र न्यायाधीश वी. एल. अचलिया ने कहा कि उनके आदेश के अनुसार गिर3तार होने की स्थिति में सनी देओल दस हजार रुपये के मुचलके या बीस हजार रुपये नकद का भुगतान कर जमानत पर रिहा हो सकते हैं। बिहार के सीजेएम द्वारा जारी वारंट के बाद गिर3तारी के भय से सनी देओल ने कोर्ट से अग्रिम जमानत के लिए याचिका की थी। सनी देओल अब बिहार के सीजेएम के समक्ष १७ जून या उससे पहले पेश हो सकते हैं। देओल ने इस मामले में महाराष्ट्र सरकार को वादी बनाया है।अतिरि1त प4िलक प्रॉसि1यूटर आर. वी. किनी ने कोर्ट को बताया कि सनी को अग्रिम जमानत देने पर राज्य सरकार को आप8िा नहीं है। देओल की ओर से पेश हुए अधिव1ता माजिद मेनन ने कोर्ट को बताया कि उनके मुव1िकल को गैर जमानती वारंट के बारे में २७ मई को एक सांध्य दैनिक में छपे लेख से पता चला। गिर3तार होने से छवि खराब होने के भय से सनी ने अग्रिम जमानत लेने के लिए याचिका करने का मार्ग अपनाया। सनी ने याचिका में कहा था कि बिहार के फिल्म वितरक अरविंद कुमार से २००३ में उन्होंने बीस लाख का एक करार किया था। लेकिन सात लाख का पहला चेक उन्हें बताए बिना कैश होने से उन्होंने १३ लाख के चेक को रोक दिया था।

गिनीज बुक के लिए वायुसेना अधिकारी का नाम प्रस्तावित

भारतीय वायुसेना के एक अधिकारी का नाम गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड के लिए प्रस्तावित किया गया है। इस अधिकारी ने २३,२६० फीट की ऊंचाई पर स्थित हिमालय श्रृंखला के माउंट कामेट पर फंसे तीन पर्वतारोहियों को बचाने के अभियान का नेतृत्व किया था। वायुसेना सूत्रों ने बृहस्पतिवार को बताया कि विंग कमांडर सुधीर के. शर्मा के नेतृत्व में ११ मई, २००४ को तीन पर्वतारोहियों को बचाने के लिए अभियान शुरू किया गया था। तीनों पर्वतारोही हाइपो-थरमिया, स्नो 4लाइंडनेस और फ्रॉस्ट बाइट से पीडि़त थे। इस अभियान में शर्मा के सहयोगी 3लाइट ले3िटनेेंट ए.वी. धांके थे। अभियान विमान और हलीकॉप्टरों की सहायता से शून्य से ४० डिग्री नीचे के तापमान पर बरफीली आंधी और भारी हिमपात के बीच चलाया गया था।वायुसेना सूत्रों ने दावा किया है कि चीता हेलीकॉप्टरों को पहली बार इतनी ऊंचाई पर बर्फ से ढके पहाड़ पर उतारा गया था। यह सफल अभियान बिना आ1सीजन मास्क के चलाया गया था। पर्वतारोहियों को दो दिन में बचा लिया गया था और उन्हें सुरक्षित बरेली मु2यालय लाया गया था। इस साहसिक कारनामें के लिए वायुसेना ने विंग कमांडर का नाम गिनीज बुक के लिए प्रस्तावित किया है।

‘वाचमैन की भूमिका निभाएंगे वाम दल’

वामपंथी पार्टियों ने कहा है कि वे यूनाइटेड प्रोग्रेसिव एलायंस सरकार के लिए वाचमैन की भूमिका निभाएंगे, जिससे सरकार अपने न्यूनतम साझा कार्यक्रम के रास्ते से भटक न जाए। साथ ही वाम दलों ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि सरकार अपनी नीतियों से भटकती है तो वे सरकार विरोधी आंदोलन शुरू करने से भी नहीं हिचकेंगे। एक समारोह के दौरान वामपंथी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए माकपा के महासचिव हरकिशन सिंह सुरजीत ने कहा कि हम लोगों को इस बात के लिए आराम की नींद नहीं सोने देंगे कि उन्होंने काफी सं2या में वामपंथी सांसदों को चुन कर भेज दिया है। हमें इस बात के लिए भी सतर्क रहना होगा कि सांप्रदायिक श1ितयां कहीं फिर से न सिर उठाने लगे। साथ ही हमें इस बात के लिए भी सतर्क रहना होगा कि सरकार न्यूनतम साझा कार्यक्रम के रास्ते से न भटक जाए।सुरजीत ने केंद्र के गठबंधन सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो हम सरकार के खिलाफ आंदोलन करने से भी नहीं हिचकेंगे। उन्होंने कहा कि हमारी सांसदों की सं2या बढऩे से हमारी जवाबदेही और बढ़ गई है।

इस समारोह में सुरजीत के अलावा भाकपा नेता ए.बी. बर्धन व डी. राजा, माकपा के प्रकाश कारत और सीताराम येचुरी, फॉरवर्ड 4लॉक के देवब्रत विश्वास और आरएसपी के अबनी राय के अलवा प्रोटेम स्पीकर सोमनाथ चटर्जी भी उपस्थित थे।

Reactions

Post a Comment

0 Comments